संचार अभियान के तहत बीसीएम का किया गया उन्मुखीकरण

0
81
Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

-आशा टेक अवे के पंपलेट का किया गया वितरण
-सदर अस्पताल में कार्यक्रम का किया गया आयोजन

भागलपुर, 11 फरवरी
संचार अभियान के तहत सदर अस्पताल में गुरुवार को आशा टेक अवे कार्यक्रम को लेकर जिले के सभी बीसीएम का उन्मुखीकरण किया गया. कार्यक्रम में आशा के बीसीएम जफरुल इस्लाम ने सभी बीसीएम को आने वाले समय में क्षेत्र में कार्यक्रम को किस तरह से करना है इसकी जानकारी दी. बीसीएम को बताया गया कि सभी आशा कार्यकर्ताओं को टेक अवे के तहत प्रखंडों में एक दिन ट्रेनिंग दें. ट्रेनिंग की तिथि भी निर्धारित कर दी गई. ट्रेनिंग में आशा कार्यकर्ताओं को बताया जाएगा कि गांव में दौरा के दौरान उन्हें बच्चा चाहने वाले दंपति और बच्चा नहीं चाहने वाले दंपति को किस तरह से काउंसलिंग करनी है.
जिले के बीसीएम का उन्मुखीकरण किया गया.
उन्मुखीकरण में मौजूद केयर इंडिया के एफपीसी आलोक कुमार ने बताया कि संचार अभियान के तहत हमलोग लगातार कार्यक्रम कर रहे हैं. जिले में जागरूकता अभियान चलाकर दंपतियों को बताया जा रहा है कि वह किस तरह से आगे योजना बनाएं. इसी के तहत सदर अस्पताल में आज जिले के बीसीएम का उन्मुखीकरण किया गया. उन्हें आने वाले समय में आशा कार्यकर्ताओं से किस तरह से काम लेना है, इसकी भी जानकारी दी गई.

एक बच्चे वाले दंपति की हो रही काउंसलिंग:
आलोक कुमार ने बताया कि अभी जिले में एक बच्चे वाले दंपति की काउंसलिंग की जा रही है. एएनएम परिवार नियोजन को लेकर सलाह दे रही हैं. सर्वे के दौरान चिह्नित दंपतियों को आशा आंगनबाड़ी केंद्रों पर लाती हैं, जहां उन्हें एएनएम परिवार नियोजन की जानकारी देती हैं.

ई-रिक्शा के जरिए कराई जा रही माइकिंग: आलोक कुमार ने बताया कि परिवार नियोजन को लेकर ई-रिक्शा के जरिए गांव-गांव में घूमकर माइकिंग कराई जा रही है. इसमें परिवार नियोजन के बारे में बताया जा रहा है. लोगों को समझाया जा रहा है कि परिवार नियोजन आपके लिए कितना जरूरी है और इससे कितने फायदे हैं. यह न सिर्फ आपके स्वास्थ्य के लिए हितकारी है, बल्कि इससे आप आर्थिक तौर पर भी खुशहाल रहेंगे.

कोविड 19 के दौर में रखें इसका भी ख्याल:
• व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें.
• बार-बार हाथ धोने की आदत डालें.
• साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.
• छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढकें .
• उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.
• घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.
• बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाए रखें.
• आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.
• मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें
• किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने या बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों मास्क पहने हों
• कहीं नयी जगह जाने पर सतहों या किसी चीज को छूने से परहेज करें
• बाहर से घर लौटने पर हाथों के साथ शरीर के खुले अंगों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह साफ करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here