कोरोना वैक्सीनेशन को ले जिले में सभी आवश्यक तैयारियां पूरी 

0
85
Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

 – जिले के पांच सत्र स्थलों पर 16 जनवरी से स्वास्थ्य कर्मियों को लगेगी  कोरोना की  वैक्सीन

 – कोरोना वैक्सीनेशन के लिए जिले के कुल 3500 स्वास्थ्य कर्मियों का नाम किया गया है दर्ज 

 लखीसराय-

मकर संक्रांति के बाद भगवान भास्कर के दक्षिणायन से उत्तरायण होने के साथ ही जिले में बहुप्रतीक्षित कोरोना टीका करण अभियान कि शुरुआत 16 जनवरी से होने जा रही है। इसको ले जिले में सभी आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली गई है। गुरुवार को भागलपुर से लखीसराय सिविल सर्जन कार्यालय में बनाये गए सबसे बड़े कोल्ड रेफ्रिजरेशन सेंटर में वैक्सीन के पहुंचने के साथ ही शुक्रवार को रेफ्रिजरेटेड वाहन के माध्यम से जिले भर में बनाए गए पांच सत्रस्थल पर पहुंचा दिया जाएगा। इसके बाद शनिवार की सुबह से जिले के सभी पांचों सत्र स्थलों पर जिले भर के करीब 3500 स्वास्थ्य कर्मियों के लिए कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू किया जाएगा।  जिले के सिविल सर्जन डॉ. आत्मानन्द राय ने बताया कि 16 जनवरी से शुरू हो रहे कोरोना टीकाकरण अभियान के लिए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा सभी आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली गई हैं । इसके लिए जिले के सदर हॉस्पिटल, लखीसराय पीएचसी, रामगढ़ चौक पीएचसी, सूर्यगढ़ा सीएचसी एवं शहर के नया बाज़र स्थित सुदामा हॉस्पिटल में कोरोना वैक्सिनेशन के लिए सेशन साइट बनाए गए हैं।  पहले चरण में जिले के करीब 3500 स्वास्थ्य कर्मियों को लगेगी   कोरोना की  वैक्सीन : सिविल सर्जन ने बताया कि 16 जनवरी से शुरू हो रहे कोरोना टीकाकरण अभियान में जिले भर के करीब 3500 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जाना है। उन्होंने बताया कि सेंटर पर वैक्सीनेटर के तौर पर सेवाएं देने वाले डॉक्टर, एएनएम सहित अन्य मेडिकल स्टाफ कि सूची तैयार कर ली गई है। इसके साथ हीं सुरक्षा और वेरिफिकेशन के लिए सिक्योरिटी गार्ड की  भी तैनाती की जाएगी।  वैक्सीनेशन सेंटर के लिए किया गया है तीन कमरों वाले भवनों का चयन : जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. अशोक कुमार भारती ने बताया कि कोरोना वैक्सीनेशन के लिए जिले भर में जो पांच सेशन साइट तय किए गए है वहां कम से कम तीन कमरों वाले भवन का होना आवश्यक है। इनमें से पहला कमरा वेटिंग रूम के रूम में उपयोग में लाया जाएगा। जहां वैक्सीन लगवाने के लिए आने वाले लोग रेजिस्ट्रेशन वेरिफिकेशन के बाद बैठकर अपनी बारी की  प्रतीक्षा करेंगे| वहीं दूसरा कमरा वैक्सीनेशन रूम के तौर पर उपयोग में लाया  जाएगा जहां लोगों को वैक्सीन लगाए जाएंगे। इसके अलावे तीसरे कमरे को ऑब्जरवेशन  रूम के तौर पर इस्तेमाल किया जाएगा जहां वैक्सीन लगाए जाने के बाद 30 मिनट तक वैक्सीन के प्रभावों का अध्ययन किया जाएगा। इसके बाद ही लाभुक को उसके घर भेजा जाएगा।  कोल्ड चेन पॉइंट पर 2 से 8 डिग्री तापमान के बीच वैक्सीन को रखा  जाएगा : उन्होंने बताया कि सिविल सर्जन कार्यालय में बनाये गए सबसे बड़े कोल्ड स्टेशन और जिले के सभी पीएचसी और सीएचसी पर बनाये गए कोल्ड चेन पॉइंट पर कोरोना वैक्सीन को 2 से 8 डिग्री तापमान के बीच लंबे समय तक सुरक्षित रखा जा सकता है।  कोरोना काल में इन सावधानियों का रखें ख्याल : – अपने – अपने घरों से बाहर निकलने कि स्थिति में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने और दूसरे लोगों को बचाने के लिए सभी लोग अनिवार्य रूप से मास्क , रुमाल या गमछे का इस्तेमाल करें। – भीड़- भाड़  वाले स्थान पर जाने कि स्थिति में सभी लोग शारीरिक दूरी के नियम का पालन करते हुए  एक – दूसरे से कम से कम दो गज या छह फीट की  दूरी के नियम का पालन करें। – सभी लोग अपने साथ हैंड सैनिटाइजर कि एक छोटी डिब्बी अवश्य रखें ताकि एक निश्चित अंतराल के बाद अपने हाथों को  साफ कर कोरोना वायरस के संक्रमण से बच सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here