ठंड कम हुआ है, बीमारी का खतरा नहीं

0
161
Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अभी कुछ और दिन परहेज से रहना ही स्वास्थ्य के लिए लाभदायक

तेल मसाले युक्त भोजन से भी करें परहेज, कम कपड़े में घर से नहीं निकले

बांका, 8 जनवरी

दो-तीन दिनों से ठंड में कमी आई है. न्यूनतम और अधिकतम तापमान भी बढ़ने लगा है. साथ में तापांतर भी बढ़ गया है. दिन में धूप खिलने से लोगों को राहत मिल रही है, लेकिन इस राहत भरे मौसम में लापरवाही बरतने की भूल ना करें. कहा जाता है कि शुरुआत और अंत में ही ठंड लगती है. इसलिए अभी के मौसम में सावधान रहना बहुत जरूरी है. ठंड कम हुआ है, लेकिन बीमारी का खतरा अभी काम नहीं हुआ है.

शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ सुनील कुमार चौधरी कहते हैं कि तापमान बढ़ने से और धूप खिलने से राहत मिली है, लेकिन इस मौसम की बीमारियों से अभी भी लोगों को सचेत रहने की जरूरत है. विशेषकर सुबह और शाम के वक्त तो ठंड को लेकर किसी भी तरह की लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए.

गर्म कपड़े पहन कर ही निकले बाहर: डॉ. चौधरी कहते हैं कि अभी भी जब आप घर से बाहर निकलें तो गर्म कपड़े पहन लें. ऐसा करने से ठंड लगने की आशंका कम रहेगी, जिससे आप इस मौसम में होने वाली सर्दी, खांसी और बुखार जैसी बीमारियों से बचे रहेंगे. इसके अतिरिक्त जब आप बाहर निकलें तो ठंडा खाना खाने और पीने से भी परहेज करें. अगर कहीं दूर जा रहे हैं तो पर्याप्त संख्या में गर्म कपड़े साथ ले लें. सांस से संबंधित बीमार लोगों का विशेष तौर पर सावधानी बरतने की जरूरत है. बच्चे और बूढ़े लोग सावधान रहें.

मॉर्निंग वॉक करने जाते वक्त शरीर को ढक कर रखें: डॉ. चौधरी कहते हैं कि कुछ दिन पहले तक लोगों ने मॉर्निंग वॉक करना छोड़ दिया था, लेकिन जब से मौसम सुहाना हुआ है तब से लोग मॉर्निंग वॉक करने जाने लगे हैं. इस दौरान ऐसा भी देखा जा रहा है कि कुछ लोग कम कपड़े में जा रहे हैं. ऐसा नहीं करना चाहिए. खासकर सुबह और शाम के वक्त तो हवा चलती है. ऐसे मौसम में अगर आप कम कपड़े पहनकर घर से निकलेंगे तो हवा लगने से ठंडी की चपेट में आ सकते हैं.

भोजन पर भी दें ध्यान. डॉ. चौधरी कहते हैं कि ऐसे मौसम में लोग अनियंत्रित तरीके से भोजन करते हैं. यह स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है. दरअसल, इस मौसम में पाचन क्रिया मजबूत रहती है. इस वजह से लोग अधिक भोजन कर लेते हैं. खासकर गर्म भोजन, जैसे कि मांसाहार का विशेष तौर पर सेवन करते हैं, लेकिन इसके साथ तेल मसाले का भी अधिक इस्तेमाल होता है जो कि हमारे शरीर को नुकसान पहुंचाता है. भोजन नियंत्रित नहीं रहने से शुगर और बीपी की चपेट में भी लोग आ सकते हैं.

कोविड 19 के दौर में रखें इसका भी ख्याल:
• व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें.
• बार-बार हाथ धोने की आदत डालें.
• साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.
• छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढके.
• उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.
• घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.
• बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाए रखें.
• आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.
• मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें
• किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने या बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों मास्क पहने हों
• कहीं नयी जगह जाने पर सतहों या किसी चीज को छूने से परहेज करें
• बाहर से घर लौटने पर हाथों के साथ शरीर के खुले अंगों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह साफ करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here