परिवार नियोजन कार्यक्रम की सफलता को ले स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाया जा रहा है मिशन परिवार विकास अभियान  

0
70
Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

  –  अभियान के तहत 07 से 31 जनवरी तक जिले भर में किया जा रहा विभिन्न गतिविधियों का आयोजन – सिविल सर्जन ने पत्र जारी कर जिले के सभी पीएचसी प्रभारी को दिए आवश्यक निर्देश  

लखीसराय-

 परिवार नियोजन कार्यक्रम की सफलता को लेकर मिशन परिवार विकास अभियान के तहत जिले में 7 जनवरी से 31 जनवरी तक विभिन्न गतिविधियों का आयोजन होगा, जिसमें सास-बहू सम्मलेन, परिवार कल्याण मेला, प्रखंड स्तरीय उन्मुखीकरण एवं बैठक, दम्पति संपर्क सप्ताह एवं परिवार नियोजन सेवा सप्ताह जैसे आयोजन शामिल होंगे. उक्त अभियान के सफल संचालन के लिए राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक से प्राप्त आदेश के आलोक में जिला सिविल सर्जन पदाधिकारी डॉ. आत्मानंद राय ने जिले के सभी अस्पताल अधीक्षक, पीएचसी व सीएचसी प्रभारी को आवश्यक दिशा- निर्देश भी जारी किया है।   समाज के प्रत्येक व्यक्ति तक पहुँचाया जाएगा परिवार नियोजन का संदेश :- जिला सिविल सर्जन पदाधिकारी डॉ.आत्मानंद राय ने बताया राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक से प्राप्त आदेश के आलोक में उक्त अभियान के सफल क्रियान्वयन के लिए आवश्यक कवायद शुरू कर दी गई है। इसके साथ ही इसकी सफलता को लेकर  जिले के सभी अस्पताल अधीक्षक, पीएचसी व सीएचसी प्रभारी को पत्र जारी कर आवश्यक निर्देश दिए गए हैं। ताकि हर हाल में अभियान का सफल क्रियान्वयन किया जा सकें और समाज के प्रत्येक व्यक्ति तक परिवार नियोजन का संदेश पहुँचाया जा सकें।   जिले के सभी पीएचसी में उपलब्ध है परिवार नियोजन की सुविधा :-  जिले के सभी पीएचसी में परिवार नियोजन के सभी स्थायी एवं अस्थायी साधनों की सुविधा उपलब्ध है ताकि इच्छुक लोगों को सुविधा का लाभ लेने में किसी प्रकार कि परेशानी का सामना नहीं करना पड़े और वह अपने नजदीकी स्वास्थ्य संस्थान में आसानी के साथ इन साधनों को अपना  सकें।  एएनएम और आशा के सहयोग से लोगों को किया जाएगा जागरूक :- इस अभियान का सफल क्रियान्वयन के लिए एएनएम एवं आशा कार्यकर्ता द्वारा लोगों को  परिवार नियोजन साधन के फायदे के विषय  जागरूक किया जाएगा और इच्छुक महिलाओं की सूची तैयार स्थानीय पीएचसी को सुपुर्द की जाएगी। इस दौरान परिवार नियोजन के स्थायी साधनों को अपनाने वाली महिलाओं की जानकारी  पीएचसी की सुरक्षा-व्यवस्था की भी जानकारी दी जाएगी ताकि अधिक से अधिक लोग इसके  प्रति रूचि लें। इससे कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन में सहायता मिलेगी।  महिलाओं को वैकल्पिक व्यवस्था की भी दी जाएगी :- इस दौरान परिवार नियोजन के स्थायी साधनों के साथ इसके वैकल्पिक साधनों की भी जानकारी महिलाओं को दी जाएगी और जैसे यदि कोई महिला  महिला नसबंदी के लिए इच्छुक है। किन्तु, वह शारीरिक रूप से कमजोर है या सक्षम नहीं है तो ऐसी महिलाओं को वैकल्पिक व्यवस्था की भी जानकारी दी जाएगी। जिसमें कंडोम, अंतरा, छाया,  कॉपर-टी समेत अन्य उपायों को अपनाकर अनचाहे गर्भ से दूर रहने की जानकारी दी जाएगी। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार कंडोम ना सिर्फ अनचाहे गर्भ से दूर रखता है, बल्कि यौन संचारित रोगों से बचाव करता है।   जाने कब किस प्रकार के गतिविधि का होगा आयोजन :-  07 जनवरी 2021 :-  आशा फेसीलीटेटर/आशा की बैठक एवं परिवार नियोजन से संबंधित सीएनएन फार्म की चर्चा तथा 31 जनवरी तक विभिन्न क्षेत्रों में सास-बहू सम्मेलन का आयोजन। 08 जनवरी से 13 जनवरी तक :- आशा के द्वारा सीएनएन फार्म भरा जाएगा। 09 से 12 जनवरी तक :- प्रखंड स्तरीय उन्मुखीकरण एवं बैठक। 14 एवं 15 जनवरी :- परिवार कल्याण मेला। 15 जनवरी :- स्वास्थ्य उप केंद्र का बैठक का आयोजन। 14, 21 एवं 28 जनवरी :- एक बच्चे वाली दंपत्ति के साथ ग्राम स्तर पर बैठक। 14, 16, 21, 23, 28 एवं 30 जनवरी :- एमपीए एवं छाया का पीएचसी स्तर पर विशेष शिविर का आयोजन। 14 से 20 जनवरी :- दम्पति संपर्क सप्ताह। 21 से 30 जनवरी :- परिवार नियोजन सेवा सप्ताह।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here