मुंगेर में परिवार नियोजन के लिए उपयोगी साधनों को  अपनाने वाले लोगों कि संख्या में हुई बढ़ोतरी  

0
201
Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

 – नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे 5 2019 – 2020 के आंकड़ों से हुआ खुलासा – सर्वे 4 2015 – 16 के आंकड़ों कि तुलना में प्रतिशत में हुआ है सुधार  

मुंगेर, 07 जनवरी।  मुंगेर जिले में परिवार नियोजन के प्रति लोगों में काफी जागरूकता आई है। नवदम्पतियों सहित जिले के सभी लोगों में परिवार नियोजन के लिए स्थाई और अस्थाई साधनों के इस्तेमाल के प्रति काफी उत्सुकता देखी जा रही है। काफी संख्या में लोग परिवार नियोजन के लिए दोनों साधनों का इस्तेमाल कर रहे हैं। परिवार नियोजन के लिए ऑपरेशन करवाने के लिए काफी संख्या में महिला और पुरुष पहुंच रहे हैं -सदर अस्पताल मुंगेर में परिवार नियोजन के परामर्श दाता योगेश कुमार ने बताया कि जिले में लोगों में परिवार नियोजन के प्रति काफी जागरूकता देखी जा रही है। इसका प्रमाण है कि सदर अस्पताल सहित जिले के सभी पीएचसी में परिवार नियोजन के लिए ऑपरेशन करवाने के लिए काफी संख्या में महिला और पुरुष पहुंच रहे हैं। उन्होंने बताया कि इसके अलावे जिले में परिवार नियोजन के लिए अन्य स्थाई और  अस्थाई साधनों का इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या में भी काफी सुधार हुआ है। इसका खुलासा राष्ट्रीय परिवार सर्वे 5 2019- 2020 के आंकड़ों के अनुसार हुआ है।  एनएफएचएस 5 2019- 2020 के आंकड़ों के अनुसार परिवार नियोजन के लिए उपयोगी साधन अपनाने वाले लोगों की संख्या में हुआ सुधार : योगेश कुमार ने बताया कि एन एफएचएस 4 2015 – 16 की कि तुलना में एनएफएचएस 5 2019- 2020 के आंकड़ों के अनुसार जिले में परिवार नियोजन के लिए उपयोगी साधन अपनाने वाले लोगों की संख्या में सुधार हुआ है। एनएफएचएस 4 कि तुलना में  एनएचएफएस 5 2019 – 2020 के आंकड़े इस प्रकार से हैं है – • परिवार नियोजन के लिए कोई भी साधन अपनाने वाले लोगों की कि संख्या 35.4% से बढ़कर  68.% हुई है।  • परिवार नियोजन के लिए कोई भी आधुनिक साधन अपनाने वाले लोगों की कि संख्या 33.6% से बढ़कर 49.0% हो गई है।  • परिवार नियोजन के लिए महिला बंध्याकरण (फीमेल स्टरलाइजेशन) कराने वालों की संख्या 30.7% से बढ़कर 33.7% हो गई है।  • परिवार नियोजन के लिए पुरुष नसबंदी (मेल स्टरलाइजेशन) कराने वालों की संख्या 0.0% से बढ़कर 0.2% हुई है।  • परिवार नियोजन के लिए आईयूडी,पीपीएयूडी साधन इस्तेमाल करने वाले लोगों की कि संख्या 0.3% से 0.6% हो गई है।  • परिवार नियोजन के लिए पिल का इस्तेमाल करने वाले लोगों की कि संख्या 0.3% से बढ़कर 3.1% हो गई है।   • परिवार नियोजन के लिए कॉन्डोम इस्तेमाल करने वाले लोगों की कि संख्या 1.7% से बढ़कर 8.6% हो गई है।• परिवार नियोजन के लिए इंजेक्शन लगवाने वाली महिलाओं की कि कुल संख्या 0.4% से बढ़कर 1.1% हो गई है। • इसके साथ ही परिवार नियोजन की के लिए सुविधाओं में हुई सुधार 19.8% से बढ़कर 23.3% हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here