कोरोना टीकाकरण को लेकर तीन अस्पतालों में ड्राई रन आज

0
100
Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

  -सदर अस्पताल, शहरी पीएचसी हुसैनाबाद और मंगलम अस्पताल का चयन -ड्राई रन के लिए जिले के तीन अस्पतालों के 25 लोगों को चुना गया

\ भागलपुर, 7  जनवरी

कोरोना टीकाकरण को लेकर स्वास्थ्य विभाग युद्धस्तर पर तैयारी कर रहा है. जिले में पहले चरण में टीका पड़ने वाले वाले 12 हजार स्वास्थ्यकर्मियों की सूची तैयार कर ली गयी है. अब ड्राई रन की तैयारी चल रही है. ऐसे में जिले के सभी सरकारी, चुनिंदा निजी अस्पताल और स्वास्थ्य विभाग कोरोना के टीका को लेकर कितना तैयार है, इसे लेकर शुक्रवार को जिले के तीन अस्पतालों में ड्राई रन का आयोजन किया जायेगा.ड्राई रन के लिए सदर अस्पताल, शहरी पीएचसी हुसैनाबाद व मंगलम अस्पताल का चयन-सिविल सर्जन डॉ. विजय कुमार सिंह ने गुरुवार को तैयारी का जायजा लेने के बाद कहा कि ड्राई रन के लिए सदर अस्पताल, शहरी पीएचसी हुसैनाबाद व मंगलम अस्पताल का चयन किया गया है. उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार की गाइडलाइंस के तहत, टीकाकरण को-विन पोर्टल के जरिये होगा. टीका लगाने वाले से लेकर जिस व्यक्ति को टीका लगाना है, उसका डाटाबेस इस पोर्टल पर मौजूद रहेगा. जिस व्यक्ति को यह टीका लगाना है, उसके मोबाइल फोन पर मैसेज भेजा जायेगा. मैसेज के जरिये उसे यह भी बताया जायेगा कि उन्हें अगला टीका कब और कहां लगाया जायेगा. इसके लिये जिले के तीनों अस्पतालों के 25 लोगों को चुना गया है. ये सभी हेल्थ केयर वर्कर्स हैं. इनको ही पहले टीका लगेगा और साथ ही इनकी पूरी डिटेल को-विन पोर्टल पर अपलोड की जायेगी. लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई: सिविल सर्जन विजय कुमार सिंह ने जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ मनोज कुमार चौधरी समेत टीकाकरण से संबंधित सभी स्वास्थ्य कर्मियों को ड्राई रन को लेकर सतर्क रहने को कहा है. तैयारी में किसी भी तरह की कमी नहीं हो इसे लेकर भी हिदायत दी गई है. अगर ड्राई रन के दौरान किसी तरह की कमी पाई गई तो संबंधित व्यक्ति पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. ऐसे किया जाएगा ड्राई रन: जैसे किसी भी बड़े आयोजन से पहले तैयारियों का जायजा लिया जाता है या फिर उसकी रिहर्सल की जाती है, उसी तरह कोविड-19 टीकाकरण के लिए निर्धारित सिस्टम का टेस्ट करना, प्रक्रिया में खामियों को देखना और असली ड्राइव से पहले उन्हें ठीक करने के लिए ड्राई रन किया जा रहा है. इसमें टीका की जगह किसी दूसरी दवा या फिर खाली वॉयल को ठीक उसी तरह से सेंटर तक पहुंचाना होता है, जैसे असली वैक्सीन पहुंचेगी. साथ ही लोगों का डाटा लेना और उन्हें वैक्सीन लगाना भी टेस्ट किया जाता है. ड्राई रन के दौरान जहां कोई कमी दिखती है, उसे नोट किया जाता है और उसे दूर किया जाता है. ताकि टीकाकरण के दिन किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं हो. कोविड 19 के दौर में रखें इसका भी ख्याल: • व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें.• बार-बार हाथ धोने की आदत डालें.• साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.• छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढंके.• उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.• घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.• बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की  दूरी बनाए रखें.• आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.• मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें • किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने या बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों मास्क पहने हों• कहीं नयी जगह जाने पर सतहों या किसी चीज को छूने से परहेज करें • बाहर से घर लौटने पर हाथों के साथ शरीर के खुले अंगों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह साफ करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here