कोरोना का संक्रमण नहीं हो, बच्चों को ड्रॉप पिलाते वक्त रखा जा रहा है इसका ख्याल

    0
    183
    Share
    •  
    •  
    •  
    •  
    •  
    •  
    •  

    जिले के 3.83 लाख बच्चों को पिलाया जाना है पोलियो का ड्रॉप

    5 साल तक के बच्चों को पिलाया जा रहा है पोलियो ड्रॉप

    बांका, 3 दिसंबर

    जिले भर में 5 साल तक के बच्चों को पोलियो का ड्रॉप पिलाया जा रहा है. यह अभियान शनिवार तक चलेगा. जिले के 3.83 लाख बच्चों को ड्रॉप पिलाने का लक्ष्य है और समय 2 दिन ही बचा है. इसलिए अभियान को तेज कर दिया गया है. आशा कार्यकर्ता, एएनएम और आंगनबाड़ी सेविका घर-घर जाकर बच्चों को पल्स पोलियो का ड्रॉप पिला रही हैं. जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. योगेंद्र प्रसाद मंडल ने बताया कि जिले भर में 5 साल तक के बच्चों को पोलियो की दवा दी जा रही है. अभियान के दौरान स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना की गाइडलाइन का पालन करने और करवाने का निर्देश दिया गया है.
    डॉ. मंडल ने बताया इस बार बच्चों को पोलियो ड्रॉप पिलाते वक्त विशेष सावधानी बरती जा रही है. कोरोना संक्रमण को लेकर जो गाइडलाइन जारी की गई है, उसका पालन किया जा रहा है. बच्चों में कोरोना का संक्रमण नहीं हो, इसे लेकर विशेष सतर्कता बरती जा रही है. एक माइक्रोप्लान के तहत पल्स पोलियो अभियान चलाया जा रहा है.

    आशा कार्यकर्ता, एएनएम और आंगनबाड़ी सेविका जा रही घर-घर: जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी ने बताया कि आशा कार्यकर्ता, एएनएम और आंगनबाड़ी सेविका घर-घर जाकर बच्चों को पोलियो का ड्रॉप पिला रही हैं. इस दौरान सभी स्वास्थ्यकर्मी मास्क और ग्लव्स पहनकर जा रही हैं. इसे लेकर इन लोगों को तैयारी के दौरान प्रशिक्षण दिया गया है. किस तरह से बच्चों को पोलियो की खुराक पिलानी है, यह भी बताया गया है.

    दूर से ही बच्चों को पिलाया जा रहा है पोलियो का ड्रॉप: डॉ. मंडल ने बताया कि कोरोना को लेकर सावधानी बरती जा रही है. आशा हो या एएनएम या फिर आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका कोई भी बच्चों को छू नहीं रही हैं. दूर से ही बच्चों को ड्रॉप पिला रही हैं. पोलियो ड्रॉप पिलाते वक्त बच्चे मां की गोद में ही रहते हैं. अगर बच्चा बड़ा है और 5 साल का है तो उसे भी दूर से पोलियो का ड्रॉप पिलाया जा रहा है.

    कल अभियान का अंतिम दिन: डॉक्टर योगेंद्र प्रसाद मंडल ने बताया कि शनिवार तक बच्चों को पोलियो ड्राप पिलाया जाएगा. आशा कार्यकर्ता, सेविका और अन्य स्वास्थ्य कर्मी घर-घर तो जा ही रहे हैं, आम लोगों से भी अपील है कि अगर किन्ही का बच्चा छूट रहा हो तो वह तत्काल जागरूक होकर अपने बच्चे को पोलियो का ड्रॉप दिलवा ले.

    कोविड 19 के दौर में रखें इसका भी ख्याल:
    • व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें.
    • बार-बार हाथ धोने की आदत डालें.
    • साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.
    • छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढंके.
    • उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.
    • घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.
    • बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाए रखें.
    • आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.
    • मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें
    • किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने या बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों मास्क पहने हों
    • कहीं नयी जगह जाने पर सतहों या किसी चीज को छूने से परहेज करें
    • बाहर से घर लौटने पर हाथों के साथ शरीर के खुले अंगों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह साफ करें

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here