सदर अस्पताल में लोगों की मधुमेह जांच के बाद दिया गया परामर्श

0
179
Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 दिसंबर तक सभी सरकारी अस्पतालों में लगेगा शिविर

सुबह तेज गति से कम से कम 45 मिनट तक टहलने की कोशिश करें

बांका, 26 नवंबर

अंतर्राष्ट्रीय मधुमेह सप्ताह को लेकर जिले के सभी सरकारी अस्पतालों में जांच शिविर का आयोजन किया जा रहा है. इस दौरान लोगों की मधुमेह की जांच की जा रही है और उन्हें दवा व उचित परामर्श दिया जा रहा है. यह शिविर 25 तारीख से शुरू हुआ है जो कि 2 दिसंबर तक चलेगा.

गुरुवार को सदर अस्पताल में दर्जनों लोगों के मधुमेह की जांच की गई और इस दौरान उन्हें उचित परामर्श दिया गया. सदर अस्पताल के डॉक्टर विजय कुमार ने सभी लोगों की जांच की. अस्पताल मैनेजर अमरेश कुमार ने बताया कि एक सप्ताह तक नियमित तौर पर सभी लोगों के मधुमेह जांच की जा रही है. जिन लोगों में शुरुआती लक्षण पाए जा रहे हैं उन्हें टहलने की सलाह दी जा रही है. ऐसे लोगों को अभी दवा का सेवन नहीं करने के लिए कहा जा रहा है.

खानपान के प्रति रहें सतर्क: शिविर मे जांच कराने आए लोगों को खान-पान के प्रति सतर्क रहने को कहा जा रहा है. साथ ही जिन्हें मधुमेह है उन्हें सतर्क रहने के लिए कहा गया. जिन्हें मधुमेह नहीं था वैसे लोगों को भी ऐसे मौसम में खान-पान के प्रति सतर्क रहने के लिए कहा गया. तेल मसाले युक्त भोजन से परहेज करने के लिए कहा गया. साथ ही भोजन में हरी सब्जियां और सलाद का सेवन नियमित तौर पर करने के लिए कहा गया. रात में सोते हुए कम से कम भोजन करने की सलाह दी गई.

तेज कदमों से 45 मिनट तक टहलने के लिए कहा गया: जांच कराने आए लोगों से सुबह-सुबह तेज कदमों से कम से कम 45 मिनट तक टहलने की सलाह दी गई. डॉक्टर ने उन्हें बताया कि आप इससे ज्यादा भी टहल सकते हैं. सर्दी के मौसम में लोग तेल मसाले से युक्त ज्यादा भोजन करते हैं और शारीरिक गतिविधियां रुक जाती है. इस वजह से लोग मधुमेह के शिकार हो जाते हैं. इसलिए सुबह सुबह अगर आप तेज कदमों से कम से कम 45 मिनट तक चलेंगे तो मधुमेह से बचे रहेंगे. मधुमेह की वजह से ही लोग हाइपरटेंशन के भी शिकार हो रहे हैं.

टहलते वक्त गर्म कपड़े जरूर पहने: शिविर में जांच कराने आए लोगों से कहा गया कि सुबह जब आप टहलने जाए तो गर्म कपड़े जरूर पहने. बहुत लोग अभी ठंड की शुरुआत होने की वजह से गर्म कपड़े नहीं पहनते हैं. इस वजह से वह ठंड के भी शिकार हो जाते हैं और वायरल की चपेट में आ जाते हैं. इन चीजों से बचने के लिए लोग गर्म कपड़े जरूर पहने. सर्दी के मौसम में लोग सांस फूलने की बीमारी के भी शिकार हो जाते हैं. इसलिए सुबह तेज गति से जरूर टहला करें.

कोविड 19 के दौर में रखें इसका भी ख्याल:
• व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें.
• बार-बार हाथ धोने की आदत डालें.
• साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.
• छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढंके.
• उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.
• घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.
• बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाए रखें.
• आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.
• मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें
• किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने या बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों मास्क पहने हों
• कहीं नयी जगह जाने पर सतहों या किसी चीज को छूने से परहेज करें
• बाहर से घर लौटने पर हाथों के साथ शरीर के खुले अंगों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह साफ करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here