महिला से अधिक सुरक्षित व सरल है पुरूष नसबंदी

    0
    456
    Share
    •  
    •  
    •  
    •  
    •  
    •  
    •  
    • नसबंदी पखवाड़े की सफलता को लेकर लोगों को जागरूक कर रहीं हैं आशा
    • राज्य स्वास्थ्य समिति कार्यपालक निदेशक सह विशेष सचिव ने पत्र जारी कर डीएम एवं सीएस को दिए आवश्यक निर्देश

    लखीसराय, 24 नवंबर।
    जनसंख्या स्थिरीकरण को लेकर लखीसराय जिले में 14 दिवसीय पुरुष नसबंदी पखवाड़ा दो चरण में संपन्न होगा। पहले चरण में 23 से 29 नवंबर तक लोगों को नसबंदी पखवाड़े की सफलता को लेकर जागरूक किया जाएगा। जिसके दौरान स्वास्थ्य विभाग से जुड़ी आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर लोगों को नसबंदी के लिए जागरूक और प्रेरित करेंगी। जबकि 30 नवंबर से 06 दिसंबर तक नसबंदी की जाएगी। नसबंदी जिले के पीएचसी समेत सभी अस्पतालों में की जाएगी । इस दौरान `परिवार नियोजन में पुरूष की साझेदारी जीवन लाएँ स्वास्थ्य और खुशहाली’ स्लोगन के साथ लोगों को नसबंदी के लिए जागरूक किया जाएगा। वहीं, पखवाड़े के सफल संचालन के लिए राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक सह विशेष सचिव मनोज कुमार ने पत्र जारी कर जिलाधिकारी एवं जिला सिविल सर्जन पदाधिकारी को आवश्यक निर्देश दिए हैं। जिसमें पखवाड़े की सफलता के लिए निर्धारित लक्ष्य पूरा करने के लिए आवश्यक पहल करने को कहा गया है। ताकि हर हाल में निर्धारित लक्ष्य पूरा किया जा सके।

    • हर हाल में सफल होगा पखवाड़ा और पूरा होगा लक्ष्य :-
      जिला अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ देवेन्द्र चौधरी ने बताया कि हर हाल में नसबंदी पखवाड़ा सफल होगा और निर्धारित लक्ष्य पूरा होगा। इसको लेकर आवश्यक पहल शुरू कर दी गई है। साथ ही पखवाड़े के सफल क्रियान्वयन के लिए जिले के सभी पीएचसी प्रभारी को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं।
    • महिला से अधिक सुरक्षित और सरल है पुरूष नसबंदी :- स्वास्थ्य विभाग के अनुसार महिला नसबंदी से पुरष नसबंदी काफी सुरक्षित और सरल है। नसबंदी के आधे घंटे बाद ही पुरुष अपने घर जा सकते हैं। जबकि महिला को नसबंदी के दौरान कई तरह के परेशानियाँ का सामना करना पड़ता है और काफी लंबा समय तक अस्पताल में ही रहना होता है। लोगों को जागरूक करने के दौरान आशा इस बात की जानकारी देकर लोगों को जागरूक कर रही हैं और पूर्व में पुरूष नसबंदी को लेकर व्याप्त भ्रांति को दूर कर रहीं हैं।
    • घर-घर जाकर लोगों को जागरूक कर रहीं हैं आशा :-
      वहीं, पखवाड़े का सफल संचालन के लिए स्वास्थ्य विभाग से जुड़ी आशा घर-घर जाकर लोगों को जागरूक कर रहीं हैं और लोगों छोटा परिवार, खुशहाल परिवार का फायदे बताकर नसबंदी के लिए प्रेरित भी कर रहीं हैं। इस दौरान नसबंदी के लिए इच्छुक व्यक्ति का क्षेत्र की एएनएम से नाम भी पंजीकृत करवाया जा रहा है। ताकि नसबंदी के दिन लोगों को अस्पताल में पंजीयन के लिए इंतजार नहीं करना पड़े और पखवाड़े की रफ्तार को गति मिल सके।
    • कोविड-19 के गाइड लाइन के साथ होगी नसबंदी :-
      नसबंदी के दौरान कोविड-19 के गाइडलाइन का पूरी तरह पालन किया जाएगा। इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग ने अस्पताल में आवश्यक तैयारी शुरू कर दी है। ऑपरेशन थिएटर से लेकर पूरे अस्पताल परिसर की साफ-सफाई समेत बचाव से संबंधित अन्य आवश्यक कार्य किए जा रहे हैं। ताकि नसबंदी के दौरान संक्रमण की संभावना नहीं हो और लोगों को पूरी सुरक्षा के साथ स्वास्थ्य सेवा का लाभ दिया जा सके।

    इन मानकों का करें पालन और कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर :-

    • मास्क का नियमित रूप से उपयोग करें।
    • साबुन या अल्कोहल युक्त पदार्थों से बार-बार हाथ धोने की आदत डालें।
    • साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें।
    • भीड़-भाड़ वाले जगहों से परहेज करें।
    • यात्रा के दौरान निश्चित रूप से सैनिटाइजर साथ रखें।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here