पुरुष नसबंदी को घर-घर जाकर लोगों को जागरूक कर रही हैं आशा कार्यकर्ता

0
176
Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

-जिले में पुरुष नसबंदी जागरूकता पखवाड़ा का आगाज, 6 दिसंबर तक चलेगा

  • परिवार नियोजन में पुरुषों की साझेदारी जीवन में लाए स्वास्थ्य और खुशहाली है स्लोगन

भागलपुर, 23 नवंबर।
भागलपुर जिले में पुरुष नसबंदी जागरूकता पखवाड़ा का आगाज सोमवार को हो गया। इसके तहत आशा कार्यकर्ता घ-घर जाकर लोगों को पुरुष नसबंदी के प्रति जागरूक कर रही हैं। इस बार का स्लोगन परिवार नियोजन में पुरुष की साझेदारी जीवन में लाए स्वास्थ्य और खुशहाली है। एसीएमओ डॉ. करमचंद ने बताया कि इस बार पुरुष नसबंदी पखवाड़े को दो चरण में बांटा गया है। पहले चरण में 23 से 29 नवंबर तक लोगों को जागरूक करने का काम किया जाएगा। उसके बाद 30 नवंबर से 6 दिसंबर तक नसबंदी की जाएगी। नसबंदी की सुविधा सभी सरकारी अस्पताल में मौजूद है।.

पीएचसी को 100 नसबंदी का दिया गया है लक्ष्य: डॉक्टर करमचंद ने बताया कि सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) को इस दौरान 100 नसबंदी का लक्ष्य दिया गया है। रेफरल, अनुमंडल और सदर अस्पताल में इससे ज्यादा पुरुष नसबंदी का लक्ष्य रखा गया है। इसे लेकर सभी सरकारी अस्पतालों में पर्याप्त तैयारी कर ली गई है।

भ्रांतियों को किया जा रहा दूर:
आशा कार्यकर्ता जागरूक करने के दौरान लोगों को यह बता रही हैं कि पुरुष नसबंदी से किसी तरह का नुकसान नहीं होता है। नसबंदी के 30 मिनट बाद पुरुष घर जा सकते हैं। साथ ही वह 2 दिनों के बाद सभी कुछ सामान्य तरीके से कर सकते हैं। इसलिए पुरुष नसबंदी करवाने में किसी तरह की हिचकिचाहट नहीं होनी चाहिए। यह परिवार नियोजन का सबसे सुरक्षित तरीका है।

कोरोना की गाइडलाइन का किया जा रहा पालन:
पुरुष नसबंदी पखवाड़े के दौरान कोरोना की गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है। जागरूकता कार्यक्रम के दौरान आशा कार्यकर्ता 2 गज दूरी का पालन कर रही हैं। साथ ही मास्क भी पहन कर जा रही हैं। नसबंदी के दौरान भी यह नियम फॉलो किया जाएगा। जिले के कंटेनमेंट जोन में यह अभियान नहीं चल रहा है।

कोविड 19 के दौर में रखें इसका भी ख्याल:
• व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें.
• बार-बार हाथ धोने की आदत डालें.
• साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.
• छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढकें .
• उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.
• घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.
• बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाए रखें.
• आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.
• मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें
• किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने या बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों मास्क पहने हों
• कहीं नयी जगह जाने पर सतहों या किसी चीज को छूने से परहेज करें
• बाहर से घर लौटने पर हाथों के साथ शरीर के खुले अंगों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह साफ करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here