कंटेनमेंट जोन को कोरोना मुक्त बनाने में जुटा स्वास्थ विभाग

0
75
Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

 -कोविड-19 जाँच की तेज की रफ्तार, 100 लोगों का एक दिन में हो रही जाँच -गाँव-गाँव लगा रहे हैं कोविड-19 जाँच शिविर   

लखीसराय, 25अगस्त, 2020 

जिले के कंटेनमेंट क्षेत्र को कोरोना मुक्त बनाने में स्वास्थ्य विभाग पूरी मुस्तैदी से जुट गया है। इसके लिए प्रतिदिन 100 लोगों के सैंपल कंटेनमेंट जोन से लिए जा रहे हैं एवं तिथि निर्धारित कर गाँव-गाँव जाकर कोविड-19 जाँच शिविर लगाए जा रहे हैं। जहाँ हर जरूरतमंद लोगों का पूरी सुरक्षा के साथ जाँच किया जा रहा है। जिला सिविल सर्जन पदाधिकारी डॉ आत्मानंद राय ने बताया कि विभाग की ओर से कंटेनमेंट जोन में अभियान तेज करने को कहा गया है। इसी के तहत प्रतिदिन 100 लोगों के सैंपल लिए जा रहे हैं। इसके लिए एक टीम बनाई गई है, जिसमें डॉक्टर और अन्य कर्मी शामिल है। स्वास्थ्य विभाग की टीम के सदस्य प्रतिदिन कंटेनमेंट जोन के एक क्षेत्र में शिविर लगाकर 100 लोगों के सैंपल लेते हैं। जिसकी रिपोर्ट निगेटिव रहती है, उन्हें  घर भेज दिया जाता है और जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव रहती है, उसे कोविड केयर सेंटर में भर्ती कर दिया जाता है। वहीं गंभीर मरीज को आईसीयू में भर्ती किया जाता है।  होम आइसोलेशन में जाने वाले को दिया जाता है किट जांच के बाद रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर मरीज को होम आइसोलेशन भेजते वक्त स्वास्थ्य विभाग का किट उपलब्ध कराया जाता है। किट में दवा दी जाती है, जिसका सेवन मरीज को घर में रहते हुए करना होता है। साथ ही होम आइसोलेशन में बरती जाने वाली सावधानी से भी मरीज को आगाह किया जाता है। किसी भी तरह की परेशानी होने पर मरीज को डॉक्टर से संपर्क करने के लिए कहा जाता है।  जांच बढ़ने से कोरोना मरीजों की पहचान हुई आसान जिले में कोरोना की जांच बढ़ने से इसके संक्रमण को बढ़ने से रोकने में मदद मिलेगी। जांच के बाद लोगों को पता चल जाएगा कि कौन संक्रमित है और कौन नहीं। संक्रमितों की पहचान होने से संक्रमण प्रसार पर रोक भी लग सकेगा। वहीं चिह्नित मरीज भी होम आइसोलेशन में रहकर खुद को स्वस्थ कर पाएंगे।  सरकारी गाइडलाइन का किया जा रहा पालन जिले के सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर कोरोना मरीजों की जांच के दौरान सरकारी गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है। स्वास्थ्यकर्मी मास्क और ग्लब्स के साथ पीपीई कीट पहनकर ही मरीजों की जांच कर रहे हैं।  इसे लेकर पूरी व्यवस्था की गई है। इलाज के दौरान मरीज तो सामाजिक दूरी का पालन कर ही रहे हैं। साथ में स्वास्थ्य कर्मी भी इसका ध्यान रख रहे हैं।  इन बातों का रखें ख्याल: -मुंह ढके बिना न छीकें। खांसी या छींक आने के दौरान अपने मुंह को टिशू पेपर से कवर करें और उसे तुरंत किसी बंद डस्टबिन में फेंक दें। -अगर आपको बुखार, खांसी और सांस में लेने में दिक्कत जैसी समस्या है तो तुरंत डॉक्टर्स से संपर्क करें। डॉक्टर्स से सलाह लेते वक्त मुंह को मास्क या कपड़े से अच्छे से ढकें। -अगर आप कोरोना वायरस का शिकार हैं तो अपना ध्यान रखने के साथ-साथ किसी भी व्यक्ति के नजदीक न जाएं। इससे बढ़ते खतरे को रोकने में आसानी होगी। -अपने हाथों से आंख, मुंह या नाक पर बार-बार हाथ न लगाएं. यदि ऐसा करते भी हैं तो साबुन या सेनिटाइजर से हाथों को अच्छी तरह साफ करें। -सार्वजनिक स्थलों पर भी स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें. राह चलते यूं ही सकड़ों पर न थूकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here