कोरोना टेस्ट में तेजी लाने को लेकर पीएचसी स्तर पर हो रहा है जाँच 

0
162
Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

 -संक्रमित मरीज़ो की हो रही है पहचान  रेपिड एंजिन  किट के साथ भीटीएम एवं भीएलएम से  हो रही जाँच  

लखीसराय,10 अगस्त  जिले के  हर पीएचसी में कोरोना जाँच के लिए ऐंटीजन किट एवं भीटीएम एवं भीएलएम  उपलब्ध कराने के बाद स्वास्थ्य विभाग जाँच कार्य में तेजी लाने को लेकर आवश्यक रणनीति कार्य में जुट गई है। ताकि तय समय-सीमा के अंदर अधिक से अधिक लोगों का जाँच हो सके। इसको लेकर अपर उपाध्यक्ष सह सहायक अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी ने सभी प्राथमिक स्वास्थ केंद्र के प्रभारी को आवश्यक निर्देश दिए हैं।  एक पीएचसी में एक दिन में कितने लोगों की जाँच की जाएगी इसका संख्या भी निर्धारित की गई। साथ ही जाँच में पॉज़िटिव पाए जाने वाले मरीज को  होमक्वारेंटाइन में रहने की अनुमति आवयशक निर्देश के साथ ही दी जाती है । साथ ही उन्हें होमक्वारेंटाइन कराने के लिए आवश्यक पहल करने को भी कहा जाता है। यह निर्देश भी दिया गया है कि अगर किसी व्यक्ति में कोरोना का लक्षण हैं। किन्तु उनका एंटीजन किट से जाँच में रिपोर्ट निगेटिव आती है तो ऐसे लोगों के जाँच के सैंपल लेकर जाँच केंद्र भेजना है और कन्फर्मेशन के लिए उनका आरटी-पीसीआर टेस्ट भी किया जाना है।  जिला सिविल सर्जन डॉ आत्मनन्द राय  ने बताया जिले के सभी पीएचसी में  आवश्यक निर्देश एवं गाइलाइन का पालन करते हुए लोगों का कोरोना जाँच किया जा रहा है एवं कार्य में तेजी लाने को लेकर आवश्यक पहल की जा रही है ।साथ ही जाँच कराने आए लोगों को किसी प्रकार की परेशानियाँ का सामना नही करना पड़े, इसका विशेष ख्याल रखा जा रहा है। ताकि पीएचसी में जाँच कराने में लोगों को किसी प्रकार का संदेह नहीं हो। वहीं लोग भी जाँच कराने के लिए पीएचसी आ रहें हैं। पीएचसी  स्तर पर हुआ लक्ष्य निर्धारित : डॉ. आत्मनन्द राय  ने बताया जाँच कार्य में तेजी लाने को लेकर जिले के सभी पीएचसी में एक दिन जाँच होने वालों लोगों की संख्या निर्धारित की गई है। हर पीएचसी स्तर पर रेपिड एंजिन किट से जाँच तो हो ही रही है । उसके साथ भीटीएम एवं भीएलएम के द्वारा भी जाँच की जा रही है जिसका प्रबंधन पीएचसीको करना है।   जाँच के दौरान शारीरिक दूरी  का रखा जाएगा ख्याल : डॉ. आत्मनन्द राय  ने बताया जाँच के दौरान पीएचसी में शारीरिक दूरी  का पूर्ण रूप से ध्यान रखा जाएगा। ताकि कोई भी व्यक्ति किसी से संक्रमित नहीं हों। इसको लेकर भी पीएचसी में प्रबंधन सारी तैयारियाँ पूरी कर चुकी है। साथ ही  पॉज़िटिव मरीजों को आवश्यक चिकित्सा परामर्श के साथ होमक्वारेंटाइन किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here