अब कोरोना जाँच के लिए अस्पतालों का नहीं लगाना पड़ेगा चक्कर

0
348
Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

-जिले के सभी पीएचसी में वीटीएम एवं ऐंटीजन किट से जाँच शुरू 

  मुंगेर-

कोविड-19 महामारी के दौर में भी सरकार लोगों को बेहतर से बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने को लेकर पुरी तरह सजग है एवं  लोगों को किसी प्रकार का परेशानियाँ का सामना नही करना पड़े,इसके विशेष ख्याल रख रही है।कोरोना जाँच कराने में आ रही परेशानियाँ को देखते हुए सरकार ने सभी पीएचसी में जाँच की सुविधा उपलब्ध कराकर ऐसे मरीजों की सभी समस्याएँ को दुर कर दी है।ताकि मरीजों को अस्पताल का चक्कर नहीं लगाना पड़े।एवं लोग उत्साह के साथ कोरोना जाँच करा सके।सरकार के निर्देशानुसार मंगलवार को जिले के सभी पीएचसी में ऐंटीजन किट के माध्यम से जाँच शुरू कर जाँच कार्य में गति दी गई।यह जाँच पीएचसी के चिकित्सकों के नेतृत्व में प्रशिक्षण प्राप्त लैब टेक्नीशियन के द्वारा किया जा रहा है।इस दौरान सरकार के सभी गाइलाइन का पालन किया जा रहा है।जिला सिविल सर्जन डॉ के पुरोषत्तम ने बताया कि जिले के सभी पीएचसी में वीटीएम एवं ऐंटीजन किट से कोरोना जाँच किया जा रहा है।एवं जाँच कराने आने वाले मरीजों को किसी प्रकार की परेशानियाँ नहीं हो।इसके लिए सभी पीएचसी प्रभारी को मरीजों का विशेष ख्याल रखने के लिए आवश्यक निर्देश दिए गए हैं।ताकि मरीजों को किसी प्रकार की परेशानियाँ का सामना नही करना पड़े।एवं मरीज उत्साह के साथ जाँच कराने के लिए पीएचसी आए।जिले के सभी पीएचसी में जाँच प्रक्रिया को तेज करने के 10625 उपलब्ध कराऐ गये है।एवं हर दिन जिले के सभी पीएचसी में कुल कितने लोगों की जाँच की गई।इसका रिपोर्ट राज्य स्वास्थ समिति उपलब्ध कराया जाएगा। सोशल-डिस्टेंसिंग के पालन का रखा जा रहा है ख्याल: जाँच के दौरान सोशल-डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा रखा जा रहा है।ताकि जाँच में आने वाले कोई भी व्यक्ति संक्रमित नहीं हो।इसके लिए सभी पीएचसी के पीएचसी प्रबंधन पुरी तरह सजग है।  जाँच के बाद पीएचसी कर्मी लोगों को कर रहे हैं जागरूक जाँच कराऐ आए लोगों का जाँच के बाद पीएचसी निगेटिव एवं पाॅजीटिव पाए जाने वाले लोगों को कोविड-19 से बचाव को लेकर आवश्यक जानकारियाँ देते हुए जागरूक भी कर रहे हैं।ताकि कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण पर काबू हो सके।एवं लोगों को किसी प्रकार की परेशानियाँ नहीं हो। मास्क का अनिवार्य रूप से करें उपयोग  जाँच में आए सभी मरीजों को स्वस्थ कर्मी द्वारा मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करने के लिए भी प्रेरित किए जा रहें हैं।साथ ही सोशल-डिस्टेंसिंग का पालन करने,भीड़-भाड़ वाले जगह से बचने एवं दुसरो को भी जागरूक करने को कहा गया। चिकित्सा परामर्श का पालन करें संक्रमित मरीज जाँच के दौरान पाॅजिटिव पाए जाने वाले मरीजों से चिकित्सा परामर्श का पालन करने का स्वास्थ कर्मियों द्वारा अपील किया गया।जैसे कि अलग कमरे में रहना,बेहतर मास्क का उपयोग करना, रहने वाले कमरे आवश्यकतानुसार लगातार सेनेटाइज करना,परिवार के सदस्यों से भी अलग रहने,समय पर दी गई दवाई को खाने आदि की जानकारी दी गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here