घर पर खान-पान का रखें ख्याल

0
268
Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

• ऐसा नहीं करने से दूसरी बीमारी की चपेट में आ सकते हैं

• पौष्टिक भोजन को ही दे प्राथमिकता,  शरीर रहेगा स्वस्थ  

भागलपुर- कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए फिर से लॉकडाउन लगाना पड़ा है. लोग घरों में कैद है. चाह कर भी बाहर नहीं निकल पा रहे हैं. इस वजह से लोगों की कई दैनिक दिनचर्या प्रभावित हुयी है. ऐसी परिस्थिति में लोगों को घर में काफी संभल कर रहना चाहिए. खासकर भोजन में काफी सतर्कता बरतनी चाहिए नहीं तो कोरोना से तो बच जाएंगे, लेकिन दूसरी बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं. तेल मसाले युक्त भोजन करने से ब्लडप्रेशर, शुगर और कोलेस्ट्रॉल जैसी बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं. इससे बचने के लिए खानपान में सतर्कता बरतनी जरूरी है. साथ ही घर पर कुछ समय के लिए योग या फिर व्यायाम करना जरूरी है.नारायणपुर पीएचसी प्रभारी डॉ विजेंद्र कुमार विद्यार्थी कहते हैं कि घर पर रहने के दौरान भोजन पर नियंत्रण रखने की आवश्यकता है. इस समय लोग घरों से बाहर नहीं निकल पाते हैं. साथ ही घर में रहने के कारण शारीरिक गतिविधियां कम होती है. वसा युक्त आहार सेवन से मोटापा एवं कोलेस्ट्रॉल जैसी समस्या बढ़ सकती है, जो एक साथ कई बीमारियों को न्योता दे सकता है.कहीं ऐसा ना हो जाए कोरोना से बचने के कारण कोई दूसरी बीमारियों की चपेट में आ जाए. इसलिए घर पर पौष्टिक भोजन का सेवन करना स्वास्थ्यवर्धक है. मसालेदार खाने से करें परहेज: अक्सर देखा जाता है कि लोग जब घरों में रहते हैं तो अधिक स्वादिष्ठ भोजन करना चाहते हैं, जिसमें तेल और मसाले युक्त सामग्री ज्यादा होती हैं. इसे खाने में कोई बुराई नहीं है लेकिन लेकिन जितना कैलोरी शरीर में प्रवेश करता है, उसे बर्न करने की भी जरूरत होती है. इसके लिए शारीरिक श्रम करना पड़ता है. इस समय कोई घर से बाहर नहीं निकल पा रहा है. इस वजह से अगर संभव हो तो कम से कम तेल मसाले युक्त भोजन करें. सादा भोजन ही करें: घर में रहते हुए पौष्टिक भोजन ही करें. दाल और हरी सब्जियों का जितना हो सके सेवन करें. हरी सब्जियां खाने से पर्याप्त कैलोरी मिलती है. इससे शरीर की जरूरत भी पूरी हो जाती है और दूसरी बीमारी होने का भी खतरा कम हो जाता है. दाल और हरी सब्जियों का अधिक सेवन करने से पेट से संबंधित भी कोई बीमारी नहीं होती है. लॉकडाउन में हरी सब्जी सबसे उपयुक्त भोजन है, इसलिए इसका अधिक से अधिक सेवन करें. गर्म भोजन ही करें:बारिश का मौसम चल रहा है इस वजह से भोजन का ध्यान रखना जरूरी है. इस समय गर्म खाना को ही प्राथमिकता दें. ठंडा भोजन करने से वायरल या सर्दी जुकाम हो सकता है. साथ ही फ्रिज का पानी पीने से परहेज करें. अभी के मौसम में नार्मल पानी ही पीएं. मौसम उतार-चढ़ाव वाला है. इस वजह से कोई खतरा मोल नहीं ले. कभी बारिश पड़ने से ठंड का एहसास होता है तो कभी धूप खिलने से गर्मी और उमस पड़ने लगता है.इस वजह से इन बातों का ध्यान रखना जरूरी है. गर्म पानी और नींबू का सेवन करें: सुबह-सुबह गर्म पानी पीने से शरीर में मौजूद तैलीय पदार्थ खत्म हो जाता है. इसलिए सुबह-सुबह गर्म पानी अवश्य पीएं. साथ ही दिन में चार से पांच बार नींबू पानी को मिलाकर पी लें. इससे शरीर में तैलीय पदार्थ जमा नहीं हो सकेगा, जिससे कोलेस्ट्रॉल हाइपरटेंशन और शुगर जैसी बीमारियों पर नियंत्रण रहेगा. घर पर योग और व्यायाम करें: शरीर में शारीरिक श्रम करने से तेल मसाले युक्त भोजन का प्रभाव कम हो जाता है. उससे मिलने वाली कैलोरी जल जाता है. इससे किसी भी तरह का साइड इफेक्ट नहीं होता है. इसलिए कोशिश करें घर में कम से कम आधा घंटा जरूर योग करें. योग नहीं तो शारीरिक कसरत करें. इससे आपका शरीर स्वस्थ रहेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here