सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को निशांत करते है जागरूक

0
368
Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

स्वास्थ्य सेवा के प्रति करते हैं जागरूक, देते हैं हर तरह की जानकारी 
लखीसराय ,16 जुलाई: कहते हैं, ‘‘जहाँ चाह, वहाँ राह होती है’’ इस कहवात को पूरी तरह से चरितार्थ कर रहे हैं लखीसराय जिले के सूर्यगढ़ा पीएचसी के बीएचएम निशांत राज. निशांत राज तकनीक का इस्तेमाल कर कोविड-19 के प्रति लोगों को सतर्क और जागरूक करने की मुहिम चला रहे हैं. साथ ही वह इस कोरोना आपदा के बीच दूसरी बाधित स्वास्थ्य सेवाओं के सुचारू रूप से चलने की जानकारी देने के लिए फेसबुक जैसे सोशल मीडिया का भी इस्तेमाल कर रहे हैं. वैसे तो वह प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में हमेशा अपनी सेवा देने को तैयार  रहते हैं, लेकिन उन्हें खास बनाता है सोशल मीडिया का इस्तेमाल. फेसबुक जैसे सोशल मीडिया के माध्यम से वे ना सिर्फ कोरोना के बचाव के प्रति जागरूकता ला रहे हैं, बल्कि स्वास्थ्य सेवाओं की जानकारी भी लोगों तक पहुंचा रहे हैं. साथ ही जिला स्वास्थ्य समिति सहित राज्य स्वास्थ्य समिति द्वारा जारी निर्देशों को भी फेसबुक के माध्यम से लोगों को अवगत कराने में भी वह महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहे हैं. सोशल मीडिया के माध्यम से निशांत का बड़ी संख्या में लोगों की स्वास्थ्य सेवाओं से संबंधित सवालों का जबाब देना उन्हें अन्य स्वास्थ्यकर्मियों से अलग करता है एवं तकनीक के सार्थक इस्तेमाल का एक मजबूत संदेश समुदाय तक पहुंचाता है.   
फेसबुक पेज पर गतिविधियों की जानकारी करते हैं अपडेट: 
निशांत बताते है जिले में सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च के माध्यम से आयोजित कार्यशाला में उन्हें सोशल मीडिया के इस्तेमाल की ट्रेनिंग मिली थी. साथ ही प्रक्षिक्षण के दौरान उन्हें सोशल मीडिया के माध्यम से स्वास्थ्य सेवाओं को आमजन तक बेहतर तरीके से पहुँचाने की जानकारी भी मिली थी. उन्होंने बताया इसके बाद उन्हें यह लगा कि सोशल मीडिया के इस माध्यम का इस्तेमाल कर वह लोगों को जिला व राज्य स्वास्थ्य समिति के हर महत्वपूर्ण कार्यक्रमों की सूचना लोगों तक पहुंचा सकेंगे और जिला में स्वास्थ्य गतिविधियों व सेवाओं की जानकारी भी दे सकेंगे. इसके बाद उन्होंने कम्यूनिटी हेल्थ सेंटर सूर्यगढ़ा के नाम से फ़ेसबूक पेज बनाया है और स्वास्थ्य सेवाओं संबंधी जागरूकता लाने के साथ प्रत्येक गतिविधि की जानकारी अपडेट करते हैं. इससे लोगों को जिले में आयोजित होने वाले स्वास्थ्य कार्यक्रमों के साथ अन्य स्वास्थ्य गतिविधियों की भी जानकारी मिलती है. 
सोशल मीडिया के माध्यम से स्वास्थ्य सेवाओं की बढ़ी जागरूकता: 
निशांत बताते हैं कि प्रतिदिन फेसबुक पेज को अपडेट करने के लिए समय निकालते हैं. सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों में स्वास्थ्य सेवा के प्रति जागरूकता बढ़ी है. आशा व एएनएम के कार्यों की जानकारी भी सोशल मीडिया के माध्यम से दी जाती है, जिससे लोगों में उनके बारे में जानकारी होती है. इससे आशा व एएनएम को भी काफी प्रोत्साहन मिला है. स्वास्थ्य सेवा की सहयोगी संस्थाओं के लोग भी फेसबुक से जुड़े हैं. फेसबुक पर आशा को जोड़ा गया है और उनके बेहतरीन कार्यों का फोटो भी अपलोड किया जाता है ताकि वे भी अपने कार्यों की जानकारी ले सकें और उनके कार्यों को लोग प्रोत्साहित करें. सभी आशा व एएनएम को फेसबुक पेज का लिंक भेजा जाता है. कई पत्रकार भी इस पेज से जुड़ कर स्वास्थ्य सेवाओं के कार्यों की जानकारी लेते हैं और इससे स्वास्थ सेवाओं की छवि में सुधार हो रही है. प्रतिदिन इसके लिए समय निकालते हैं.
एएनएम और आशा को भी मिल रही जानकारी: सोशल मीडिया के माध्यम से इस फेसबुक पेज पर 86 एएनएम और 75 से भी अधिक आशा जुड़ी हैं और सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर रही हैं. उनके प्रशिक्षण व गतिविधियों को फेसबुक पेज पर अपलोड किया जाता है. सोशल मीडिया पर पोस्ट की गयी  प्रशिक्षण व गतिविधियों से संंबंधित जानकारियों का लाभ आशा व एएनएम भी उठा रही हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here