बढ़ते करोना की वज़ह-लोगों की लापरवाहीं

0
764
Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हीरापुर थाना के नरसीह बांध  के 50 वर्षीय महिला तथा आसनसोल नॉर्थ थाना अंतर्गत सुकांतापल्ली निवासी  58 पिता वर्षीय तथा 30 वर्षीय पुत्र है। आसनसोल जिला अस्पताल में महिला करओना संक्रमण के लक्षण मिलने पर भर्ती हुई थी जांच के बाद उसे कोलकाता भेजा गया।    जांच रिपोर्ट पॉजिटिव मिलने के बाद दुर्गापुर अस्पताल रेफ़र किया गया। 

आसनसोल रेलपार इलाके के सुकांतापल्ली के पिता और पुत्र दो करोना पीड़ित मिलने पर इलाके में कोहराम मच गई।  जानकारी के मुताबिक़ रूपकथा सिनेमा के निकट इनका दुकान है पिता पुत्र दोनों कोलकाता से कुछ दिनों पहले लौटे थे। अन्य सदस्यों को करोना जांच के लिए अस्पताल भेजा गया।  रिपोर्ट आने तक पूरे परिवार को होम कोरेन्टाइन में रहने का आदेश दिया गया है।  

जब्कि आसनसोल जिला अस्पताल में दर्जनों लोगों ने करोईना का जांच कराने पहुंचे।  जिनमे आठ लोगों में करोना संक्रमण लक्षण पाए गए। उन्हें हॉस्पिटल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया।  जबकि  अन्य लोगों में लक्षण नहीं पाए जाने के कारण घर भेज दिया गया। 

आसनसोल दक्षिण थाना के बूद्धा के 22 वर्षीय युवक और गिरजा मोड  50 वर्षीय व्यक्ति में करोना पाया गया

हीरापुर थाना अंतर्गत ५२  वर्षीय व्यक्ति

बारबोनी थाना दोमुहानी बाजार निवासी महिला ३५ साल

जमुरिया थाना के न्यू जामसोल निवासी 60 वर्षीय वृद्धा। 

आसनसोल उत्तर थाना के ददका निवासी 68 वर्षीय वृद्ध।  

अंडाल थाना अंतर्गत 12 नंबर रोड रहमत नगर निवासी 45 वर्षीय व्यक्ति।  

मुर्शिदाबाद के जंगीपुर निवासी 28 वर्षीय युवक। 

सभी को करोना लक्षण पाए जाने के पर अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड भेजा गया। 

रानीगंज-रामबागान के कपड़ा व्यवसाई कोरोना पॉजिटिव  पाए जाने के बाद ईलाज के लिए  कोलकाता के निजी अस्पताल में एडमिट है परिवार के सदस्य के अलावे नौकरानी को भी कोरन्टाईन किया गया।ये लोग हाल में ही सिलीगुड़ी और कोलकाता से लौटे थे।

सियारसोल के दूध बिक्रेता की बहन पटना से आई हुई थी 

एक महिला रानीगंज थाना एग्रा ग्राम की- वर्षीय महिला 2 जून को दिल्ली से लौटी थी जिसे करोना पीड़ित पाने पर ईलाज के बाद फिर दोबारा  4 जुलाई को ग्रामीण स्वास्थ्य केंद्र जांच के बाद करौना पाया गया। 

महावीर कोलियरी की 40 वर्षीय महिला महिला करोना पीड़ित पाई गई जिसने कोई यात्रा नहीं की थी। बल्लभपुर पालपाड़ा कि धनबाद से लौटी थी

उत्तर प्रदेश अयोध्या से लौटने पर  १ महिला करोना पीड़ित पाई गयी ।   

रानीगंज-3 परिवार के 6 सदस्य करोना पाए गए।

रानीगंज -मारवाड़ी पट्टी निवासी एक 44 वर्षीय युवक को पॉजिटिव पाया गया। 

करोना को लेकर इन दिनों पूरे विश्व की स्तिथि चिंताजनक स्थिति हो गई है। लोगों को सुरक्षा सम्बन्धी जानकारी देकर  किया जा रहा है ताकि बगैर मास्क के बाहर ना निकले  और सामाजिक दूरी का पालन करें।   लेकिन देखा जा रहा है कि लोग मास्क पुलिस से बचने के लिए गले में झूला कर घूम रहे हैं भीड़ में खरीदारी कर रहे है।  चाय की दुकान से लेकर दवा की दुकान तक में  लोग सामाजिक दूरी का नियम पालन नहीं कर रहे हैं इससे करोना का संक्रमण बढ़ने की आशंका दिखाई दे रही है आंकड़े बता रहे हैं कि करोना को हलके में न ले।  लेकिन लोगों में कोई परवाह नहीं – सूत्रानुसार शुक्रवार को महाराष्ट्र से कालना लौटे बच्चे की जांच में उसे कोरोना पॉजिटिव पाया गया।  जानकारी के अनुसार कलना  क्षेत्र में चार कंटेनमेंट जोन है लेकिन फिर भी वहां के लोगों में कोई जागरूकता नहीं देखी जा रही है खबरों के मुताबिक तांत श्रमिक संघठनो ने अपनी कुछ मांगों को लेकर अनुमंडल अधिकारी कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया था जहां करीब ३००-400 लोगों की भीड़ हुई थी।  

रानीगंज- कमिश्नर ऑफ पुलिस सुकेश जैन एवं  डी एम् पूर्णेन्दु माझी ने रानीगंज करोना संक्रमण से बचाव के लिए लोगो को जागरूक किया। ताज़ा खबरों के मुताबिक़ रानीगंज में  नए 16 मामले आने के बाद स्वास्थ्य बिभाग और प्रशासन मुस्तैद है। पुलिस आयुक्त और जिलाधिकारी ने बर्न प्लांट में नगर निगम का तरफ से  निकाले गए करोना संक्रमण जागरूकता टेबलो को जागरूकता फ़ैलाने के लिए रवाना किया।  जिसका उद्देस्य विभिन्न इलाकों में घूम-घूम कर लोगों को क्रोना संक्रमण से बचाव के लिए जागरूक करेग। दोनों अधिकारियों ने कुमार बाजार में बनाए कंटेनमेंट जोन का दौरा किया उन्होंने इस इलाके में लोगो  से बात कर उन्हें करोना संक्रमण को देखते हुए अधिक सावधान एवं जागरूक रहने की सलाह दी।  लोगों से सैनिटाइजर का प्रयोग करने एवं 2 गज की दूरी का पालन करने एवं मास्क इस्तेमामाल सही तरीक़े से करने का अपील किया।   कुमार बाजार इलाके में 20 घरों तथा प्लांट के पास तीन घरों को कंटोनमेंट जोन बनाए गए हैं और लोगों को घरों में ही रहने का आदेश दिया बैरिकेड लगाकर इलाके में घेराबंदी की गई।  

पूर्णेन्दु मांझी ने कहा कुमार बाजार कंटेनमेंट जोन के लोगो को ज़रूरत के सारे सामानों की आपूर्ति उनके घर पर ही करने का प्रबंध किया गया है।   घनी आबादी वाला इलाका होने की वजह से यहां संक्रमण बढ़ने की आशंका है इसलिए पुलिस प्रशासन हर स्तर से सभी एहतियाती कदम उठाए गए हैं।  

ताकि संक्रमण के मामले रोके जा सके। उन्होंने कहा कि 7 दिन कंटेनमेंट जोन रहेगा।  उसके बाद अगला कदम उठाया जाएगा उन्होंने कहा कि आम लोगों को जागरूक करने के लिए टेब्लो निकाला।  सतर्क एवं जागरूक रहने की जरूरत सिर्फ रानीगंज ही नहीं बल्कि आसनसोल दुर्गापुर के जिन इलाकों में संक्रमण के मामले सामने आए हैं इलाकों में भी लोगों को जागरूक किया जाएगा।  इलाकों में सिलसिलेवार तरीके से सैनिटाइजेशन किया गया स्वास्थ्य विभाग ने बताया कुमार बाजार जेल रोड मारवाड़ी पट्टी बांध इलाकों में सनीटाइजेशन किया गया है।

फाइट अगेंस्ट कॅरोना के तहत जांच।  आसनसोल में कोर्ट मोड़, जीटी रोड स्टेशन रोड संरेलेय रोड  जैसे इलाकों में  मोटर चेकिंग अभियान चलाया गया जिसमें मास्क होना भी ज़रूरी था लगभग सभी छोटे बड़े गाड़ियों की तलाशी ली गयी जिनमे डॉकुमेंट के साथ मास्क के ना होने पर करवाई की गयी।  

साइकल मोटरसाइकिल से लेकर ट्रक मिनी बस सहित प्राइवेट गाड़िया भी थीं।  सरकारी गाइडलाइन नहीं मानने वालों का जुर्माना किया गया। सोशल डिस्टेंसिंग के पालन पर भी नज़र रखा गया या नहीं इस बात का ध्यान रखा गया। 

आसनसोल स्टेशन पर लगभग 12 ट्रेनों में  कुल 1490 यात्री उतरे चढ़े फॉर्म पर आने जाने वाले यात्रियों को स्वचालित थर्मल स्क्रीनिंग की गई है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here