कश्मीर टूर का बहिष्कार।

0
121

नीरज झा

मुम्बई

देश प्रेम की मिसाल, पत्थरबाजों को करारा जवाब।
5 साल तक कश्मीर टूर का बहिष्कार, 250 से भी अधिक ट्रेवल एजेंट्स का इरादा। आतंकी हमले के विरोध में सौराष्ट्र के 250 ट्रेवल एजेंट्स ने 5 साल तक कश्मीर टूर की पैकेज रद्द करने का फैसला महत्वपूर्ण निर्णय किया है। इस निर्णय से आतंकवाद वाले इलाकों के लगभग 350 करोड़ के बिजनेस पर असर पड़ेगा। इस फैसले से कश्मीरी एजेंट्स घबरा गए हैं। और ट्रेवल एजेंट्स से कहा कि ऐसा न करें। लेकिन कई एजेंट्स ने कश्मीरी एजेंटो कोई बात तक नहीं की।
सौराष्ट्र के एजेँट्स को कई ऑफर के साथ सुरक्षा की गारंटी भी दी। लेकिन सौराष्ट् के एजेंट्स ने ऑफर ठुकराकर देश प्रथम का परिचय दिया है। और अपने बैनर से कश्मीर शब्द भी हटा दिया । स्थानीय एजेंट्स इस संबंध में कश्मीरी एजेंट्स से बात तक नहीं कर रहे हैं। साथ ही ऐसा न करने वालों के साथ बहिष्कार करने का निर्णय भी लिया।
अब तक 240 एजेंट्स का समर्थन मिल चुका
इस निर्णय का
सौराष्ट्र के 170 ट्रेवल्स एजेंट
और रेल्वे के 70 एजेंट्स
ने अपना समर्थन दिया है।
सौराष्ट्र में लोग गर्मी की छुट्टियों में केरल, कश्मीर, कुलू-मनाली, शिमला समेत कई हिल स्टेशन जाते हैं। पुलवामा में हुए आतंकी हमले के विरोध में सौराष्ट्र के एजेंट्स ने विरोध दर्ज किया है।
सैनिकोें से अलग कुछ भी नहीं
इस देश के एक-एक जवान की जिंदगी अमूल्य है। उनसे देश का भविष्य उज्जवल है। हम पर जब भी मुसीबत आएगी, देश का सैनिक हमारे साथ होगा। आज समय है हम सैनिकों के साथ खड़े हों। जब तक आतंकी हमले बंद नहीं होते, तब तक एक भी टूर कश्मीर का नहीं होगा। मंदी के बाजार मे इस तरह निर्णय भी किसी परिचय का मोहताज नही। अब पत्थरबाजों को भी देशभक्ति की ताकत का एहसास होने में देर नही है।
अभिनव पटेल,
सेक्रेटरी सौराष्ट्र ट्रेवल एजेंट्स एसोसिएशन।
आशीष सिंह

सोशल मीडिया पर आरहे कमेंट्स और  डिमान्ड को आप देख सकते हैं पूरा हिंदुस्तान और तमाम हिंदुस्तानी कितने गुस्से में हैं।

कॉमेंट्स:

1)देश का सारा बजट लगा दो,

2)इलेक्शन को देश से हटा दो,

3)एक वक्त का खाना मत दो,

4)हमें गैस कनेक्शन मत दो,

5)ईद दीवाली बन्द करा दो,

6)जितना मर्जी टैक्स लगा दो,

7)बस बॉर्डर पर आग लगा दो,
पाकिस्तान को सबक सिखा दो,

9)आगे बढ़ो और पाकिस्तान को ठोक दो मिट्टी में मिला दो.

10)मेरे शहीद मेरे 42Crpf साथियों को नमन.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here